• शहर चुनें

इथेनॉल-बस परमिट की समय सीमा समाप्ति को देखते हुए स्कैनिया नागपुर नगरपालिका पहुंची

Published On Feb 26, 2016By प्रशांत तलरेजा

स्कैनिया पूरी दुनिया में एक प्रमुख ट्रक निर्माता है। कई देशों के मार्केट्स में गहरे तौर पर अपनी स्थिति मजबूत बनाने समेत ही कंपनी अपने आप को एक अग्रणी हेवी ड्यूटी ब्रैंड बना चुकी है। ट्रक और बसेस के विशाल बिजनेस में ठोस स्थिति के साथ ही कंपनी अपने क्लीन एनर्जी इन्वेस्टमेंट्स के लिए भी जानी जाती है। कई माध्यमों के तहत यह ब्रैंड ऑटो वर्ल्ड में रिनेवेबल एनर्जी डिवाइसेज उपलब्ध करवाने के लिए भी अग्रणी बन चुका है। इन में से एक इथेनॉल से चलने वाली बसेस भी हैं, जो कि भारत समेत कई विदेशी मार्केट्स में उतारी जा चुकी है।

स्वीडिश कंपनी ने हाल ही में अपना इथेनॉल बस प्रोजेक्ट नागपुर शहर में शुरू किया है। यहां पर इन बसेस ने भारतीय पानी को चखा है। खबरे आई हैं कि कंपनी नागपुर नगर पालिका में अपने इस प्रोजेक्ट के रिनेवल कराने के लिए पहुंची है। इसका वर्तमान परमिट इस साल 29 फरवरी को खत्म हो रहा है, तथा कंपनी इसे अगले 6 महीनों के लिए आगे बढ़ाने के लिए आग्रह कर चुकी है।

आने वाले कुछ महीने कंपनी के इथेनॉल बस प्रोजेक्ट के लिए बहुत ही महत्पूर्ण रहने वाले हैं, क्योंकि आने वाले फायनेंशियल ईयर में नागपुर नगर पालिका को संभवतः केन्द्र सरकार की ओर से स्कैनिया की 55 इथेनॉल बसों का फ्लीट मिलने जा रहा है। इन बसेस को लोकल ट्रांसपोर्ट सप्लाई में काम लिया जाएगा। नागपुर आर टी ओ के एक अधिकारी का कहना है कि, “यदि उनकी अपील एक्सपायरी डेट से पहले आती है तो आरटीओ परमिट को बढ़ा सकता है। यदि वह 29 फरवरी के बाद आती है तो यह प्रस्ताव रीजनल ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी की मीटिंग में इसके चेयरमेन तथा डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर सचिन कुर्वे के पास भेज दिया जाएगा।”

इथेनॉल बस प्रोजेक्ट को एक साल पहले ही शुरू किया गया था। तब से लेकर स्कैनिया स्थानीय नगर पालिकाओं में परमिट बनवाने के लिए अन्य राज्यों के शहरों में भी जा चुकी है। इन में मध्य प्रदेश, उत्तरप्रदेश, कनार्टक, तमिलनाडु तथा अन्य राज्य शामिल हैं। कंपनी इससे पहले भी नागपुर नगरपालिका में भी अपने परमिट की एक्सपायरी डेट रिनेवल कराने के लिए पहुंच चुकी है। इस पहले की अवस्था में आरटीओ नागपुर नगर पालिका में बस को रजिस्टर्ड कर चुका है तथा परमिट जारी कर चुका है, जिसकी अवधि 20 मई 2015 तक की थी। इस के इसें सिविक एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा नवंबर 2015 तक बढ़ा दिया गया था। वर्तमान में कंपनी की ग्रीन बस आरबीआई स्क्वायर से खापरी के बीच के रूट पर चल रही है। इस ग्रीन बस के प्रोजेक्ट को अगस्त 2014 में कंपनी इस शुरूआत के साथ शुरू किया गया था कि दुनिया के सभी शहरों में ट्रांसपोर्ट को दीर्घकाल के लिए पर्यावरण अनुकूल बनाया जा सके।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?