• शहर चुनें

दूसरा मेड-इन-इंडिया फूसो ट्रक पहुँचा साउथ अफ्रीका के सीवी मार्केट

Published On Aug 25, 2016By लिसा प्रधान

पिछले साल फूसो ट्रक्स द्वारा लॉंच किए गये एफए 9-137 के शानदार रेस्पोन्स के बाद, फूसो ट्रक्स सदर्न अफ्रीका (एफटीएसए), ने देश में अपना दूसरा ट्रक जारी किया है। एफटीएसए डेमलर ट्रक्स एंड बसेस सदर्न अफ्रीका (डीटीबीएसए) का ही एक डिवीज़न है। एफए 9-137 की तरह ही यह नया व्हीक्ल्स एफजे 16-230 भी भारत में ही विकसित किया गया है। इस से पहले एफटीएसए इन प्रॉडक्ट्स की आयात जापान में करता था।

श्री कोबस वेन ज़िल, जो की एग्ज़िक्युटिव डाइरेक्टर हैं डीटीबीएसए में, ने बताया की, साल 2015 के मुक़ाबले साउथ अफ्रीका में फूसो ट्रक्स के सेल्स आँकड़ों में 10 प्रतिशत की वृद्धि अनुमानित की गयी है इस साल। "हमारे पास एफए 9 के लिए काफ़ी आक्रामक सेल्स टारगेट था, लेकिन हम ने इसको पहले ही दोगुना कर दिया है। भारत में बने प्रॉडक्ट्स इस साल और भी ज़्यादा तेज़ी के साथ बढ़ रहे हैं, और हम ऐसा होते हुए लगातार देख रहे हैं," उन्होंने जानकारी दी।

एफजे 16-230 के फीचर्स

नये एफजे 16-230 कई सारे एप्लिकेशन्स की ज़रूरतों को पूरा करता है, जैसे की डिस्ट्रिब्यूशन, रेंटल, कौरियर और स्माल, मीडियम साइज़ के बिज़नेस। यह ट्रक्स मीडियम ड्यूटी और हेवी ड्यूटी रेंज में आते हैं व मौजूदा फूसो लाइन अप के गेप को बखूबी भर देते हैं। यूरो 3 एमिशन नॉर्म्स से सज्जित, एफजे 16-230 में लगा है 6.37 लीटर का वॉटर कूल्ड, डाइरेक्ट इंजेक्षन, तुर्बो चार्ज्ड डीज़ल इंजन जिस में क्षमता है 228 किलो वॉट के पावर आउटपुट देने की 2200 आरपीएम पर और साथ ही यह प्रदान करता है 810 एनएम का टॉर्क 1200-1600 आरपीएम पर।

अपने 16600 किलो ग्राम के ग्रॉस व्हीकल वेट (जीवीडब्ल्यू) और 8000 किलो ग्राम की पेलोड केपॅसिटी के साथ, यह एफजे ट्रक आता है 4X2 एक्सल और हेवी ड्यूटी सस्पेन्शन के साथ। केबिन इंटीरियर्स में शामिल हैं एक तीन तरफ़ा एडजस्टेबल सीट, स्टॅंडर्ड ऐयर कंडीशनर सिस्टम, टिल्ट एंड टेलिस्कोपिक स्टियरिंग व्हील, इंडिकेटर (जो ड्राइवर को सही गियर और स्पीड की जानकारी देता है) ।

फ्यूचर प्लॅन्स

अपने एफए और एफजे मॉडल्स के अतिउत्साहित रेस्पोन्स के बाद, अब डेमलर अपने चेन्नई स्थित प्लांट से और ज़्यादा ट्रक्स की आयात पर ध्यान दे रहा है। डेमलर वैसे तो प्रीमियम सेगमेंट में मुक़ाबला करता है, लेकिन यह फूसो ट्रक्स अफ्रीका में हीनो, इसुज़ु ट्रक्स और यूडी ट्रक्स से लोहा लेंगे इंटर मीडियेट सेगमेंट में। इस के अतिरिक्त, कंपनी अपनी लोकेलाइज़्ड असेंब्ली के लिए भी जगह ढूँढ रही है और ऐसा लगता है की अंततः नये फूसो ट्रक्स को डीटीबीएसए के ईस्ट लंडन स्थित प्लांट में असेमबल करेगा जो की ईस्टर्न केप में है।फिलहाल, यह ट्रक्स अफ्रीका में भारत से फुल्ली बिल्ट यूनिट्स के रूप में इम्पोर्ट किया जाते हैं।

उन्होंने आगे बताया की कमर्शियल व्हीकल मेकर की 100 प्रतिशत कमिटमेंट है की वह कंप्लीट्ली नॉकडाउन कीट्स की असेंब्ली जल्द से जल्द शुरू करेगा।

उन्होंने आगे बताया की कमर्शियल व्हीकल मेकर की 100 प्रतिशत कमिटमेंट है की वह कंप्लीट्ली नॉकडाउन कीट्स की असेंब्ली जल्द से जल्द शुरू करेगा। "हमें इस के लिए भारत में हो रहे प्रोडक्षन में थोड़ा बदलाव लाना होगा। यह प्रोसेस लोंग टर्म ना होते हुए अभी के लिए आवश्यक है, और साथ ही लोकलाइज़ेशन दुनिया भर में हर तरफ ज़रूरत बन गया है," श्री कोबस वेन ज़िल ने कहा।

इस व्हीकल की प्राइस रेंज है 630000आर शॉर्ट व्हील बेस मॉडल के लिए व 640000आर लोंग व्हील बेस मॉडल के लिए।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?