• शहर चुनें

2018 विश्व कप में रशिया अपने ड्राइवर-लेस ट्रक से परदा उठाएगा

Published On Oct 29, 2015By तुषार विजय

रशिया के डेप्युटी प्राइम मिनिस्टर श्री अर्कादी ड्वॉर्कोविच ने हाल ही में घोषणा की है की रशिया आगामी फीफा विश्व कप 2018, जिसकी मेजबानी उनका देश करने जा रहा है, में नव विकसित ड्राइवर-लेस (बिना चालक चलने वाला) ट्रक को प्रदर्शित करेगा । पिछले दो वर्षों में, मॅन्यूफॅक्चरर्स में सेल्फ़ ड्रिवन (स्वयं–संचालित) ट्रक्स का निर्माण करने की एक अजीब दौड़ छिड़ गयी हुई है । हर एक मॅन्युफॅक्चरर ऐसे व्हिकल्स पर काम कर रहा जो विशेष गुणों, जो किसी अन्य निर्माता के पास न हो, को आत्मसात कर परिक्षण की कसौटी पर खरे उतरें । गौरतालब है की इस दौड़ का प्रतिनिधित्व ऑटो क्षेत्र के दिग्गजों द्वारा किया जा रहा है । अक्टूबर में, जापानी कंपनी टोयोटा ने घोषणा की कि वो सेल्फ़ ड्रिवन कारों को मॅन्यूफॅक्चर करेगी, जो 2020 तक उपलब्ध होगी । डेमलर ने हाल ही में एक पब्लिक शो का प्रदर्शन किया, जिसमें उसके सेल्फ़ ड्रिवन ट्रकों को जर्मनी के रास्तों पर आज़माते हुआ दिखाया गया है । दूसरे बड़े ब्रांड जिनमें हौंडा, टेस्ला मोटर्स और बी.एम.डब्ल्यू शामिल है उनके अपने सेल्फ़ ड्रिवन व्हिकल्स के संस्करणों को कैलिफ़ोर्निया मे आजमा रहें हैं ।

रशिया में, इस तरह के व्हिकल्स विकसित करने के लिए वहाँ के टॉप ट्रक्स मॅन्यूफॅक्चरर्स में सर्वश्रेष्ठ बनने की होड़ लगी हुई है, जिस में वहाँ के दो महारथियो के बीच जंग छिड़ी हुई है । एक ओर जहां सरकार द्वारा शासित कामाज़ है, जो सेल्फ़ ड्रिवन ट्रक्स की परियोजना में तेजी से आगे बढ़ रहा है, वहीं दूसरी ओर गैज़ ग्रुप है, जो की एक ऑटोमोटिव समूह है । दोनों का दावा है कि यदि सरकार से वित्तीय सहायता मिल जाए तो वो इस परियोजना को तीन साल में पूरा करने का माद्दा रखते हैं । श्रीमती एलेना मातवीवा, जो की गैज़ ग्रुप कीं उपाध्यक्ष हैं, कहतीं हैं की “ हमनें रिमोट से संचालित वाहनों, जो वास्तव में कारों पर आधारित है, को विकसित करना शुरू कर दिया है, जिसका निर्माण उरल्स ऑटोमोटिव प्लांट द्वारा किया जा रहा है, तथा हम इस परियोजना को और आगे विकसीत करेंगे एवं 2018 तक एक ऐसा वाहन बना लेंगे जो की पूरी तरह रिमोट आधारित व स्वत: संचालित क्षमताओं से सज्ज हो, बशर्ते हमें कुछ सरकारी सहायता प्राप्त हो । इसी बीच, कामाज़ ने 4.6 लाख डॉलर की सहायता राशि प्राप्त कर ली है, जिसे शिक्षा एवं विज्ञान मंत्रालय द्वारा मुहैया करवाया गया है । यह ब्रांड इस परियोजना पर एक सॉफ्टवेयर प्रमुख, कॉग्निटिव टेक्नोलॉजीज के संग आगे कदम बढ़ा रहा है । श्रीमती ओल्गा ऊसोवा, जो की कॉग्निटिव टेक्नोलॉजीज की अध्यक्ष हैं, ने दावा किया कि कंपनी इसका प्रथम चालक रहित ट्रक रशिया के शहर नबेरेज़हनी चेलंय में उतरेगा । “ हमारे चालक रहित कामाज़ ट्रक्स साधारण कार्यों जैसे - यु-टर्न, लहराते हुए टेढ़े मेडे या चक्करदार रास्तों पर चलने और बाधाओं को भांपकर रुकने, और उनको को सम्पादित करने में ज्यादा सक्षम हैं ।" श्रीमती ऊसोवा ने आगे जानकारी दी ।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?