• शहर चुनें

कमाज़ एएमडब्ल्यू में हिस्सेदारी खरीदेगा, भारतीय मार्केट के लिए अपने आपको पुनर्स्थापित करेगा

Published On Jan 16, 2017By लिसा प्रधान

रशियन कमर्शियल व्हीकल मॅन्युफॅक्चरर की भारतीय इकाई, कमाज़ मोटर्स की इन दिनों भारतीय ट्रक मेकर एशिया मोटर वर्क्स लिमिटेड (ए एम डब्ल्यू) के साथ हिस्सेदारी खरीदने को लेकर बातचीत चल रही है। रशियन ट्रक मेकर ने कुछ समय पहले एएमडब्ल्यू में छोटी हिस्सेदारी खरीदने में रूचि दिखाई थी। इस बात का खुलासा कमाज़ इंडिया के डाइरेक्टर श्री एलेक्सी एजीबालोव ने इस महीने के मध्य में किया था।

इस सौदे से दोनों ही ट्रक मॅन्यूफॅक्चरिंग कंपनीज़ को फ़ायदा होगा। एक तरफ जहाँ एएमडब्ल्यू को उम्मीद है की वह इस सहयोग की मदद से कुछ हद तक अपना 200 मिलियन डॉलर का क़र्ज़ चुका पाएगा, वहीं दूसरी ओर कमाज़ को भरोसा है की वह भारतीय घेरूलू ट्रक मार्केट में अपनी पैठ जमाने के लिए में एएमडब्ल्यू की उपस्थिति को भूना पाएगा।

इस सौदा को यदि अंतिम रूप मिलता है तो यह भारतीय कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में अपनी तरह का पहला ऐसा सौदा होगा। दोनों ही मॅन्यूफॅक्चरर्स के बीच पिछले एक साल से इस सन्दर्भ में बात चल रही है, और यदि सब कुछ ठीक रहा, तो वॅल्यूएशन के बाद इस महीने के अंत तक इस सौदे पर मुहर लग जाएगी।

एएमडब्ल्यू देश के हेवी कमर्शियल व्हीकल स्पेस का जान माना ब्रांड है। गुजरात स्थित ट्रक मॅन्युफॅक्चरर की अपनी फेसीलिटीज़ भुज में है वह वहाँ से देश के लिए बहुत से सिविलियन और डिफेन्स एप्लिकेशन्स उत्पादन करता है। ट्रक्स के अलावा, एएमडब्ल्यू टिपपर बॉडीस, ट्रेलर्स व फुल्ली बिल्ट व्हीक्ल्स भी मॅन्यूफॅक्चर करता है। इस के अतिरिक्त, कंपनी अपने ट्रक्स को नेपाल, भूटान, बांग्लादेश और म्यांमार जैसे पड़ोसी एशियन देशों में एक्सपोर्ट भी करता है।

कमाज़ मोटर्स रशिया व सीआईएस का सबसे बड़ा ट्रक मॅन्युफॅक्चरर है। कंपनी विभिन्न एप्लिकेशन्स में काम आने वाले कमर्शियल व्हीक्ल्स की एक बड़ी रेंज का उत्पादन करती है, जिन में माइनिंग से लेकर कन्स्ट्रक्षन और हेवी ड्यूटी इनफ्रास्ट्रक्चर प्रॉडक्ट्स शामिल हैं। रशियन ट्रक मेकर ने भारत में अपना पदार्पण साल 2009 में ब्रिटेन के वेकट्रा ग्रूप के सहयोग के साथ किया था। परंतु, कमाज़ अब तक अन्य प्रमुख ब्रांड्स जैसे टाटा मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, अशोक लीलेंड, भारत बेंज़ व आयशर के मुक़ाबले भारतीय ट्रक मार्केट में अपनी छाप छोड़ने में कुछ खास कामयाब नहीं रहा है। कंपनी अब अपनी रणनीतियों पर दोबारा से काम करते हुए अपने ऑपरेशन्स को साउथईस्ट एशियन मार्केट्स में बेहतर ढंग से फैलने की जुगत में लगी हुई है। और एएमडब्ल्यू जैसे ट्रक मेकर के साथ जुड़ने पर उस को संभावनाओं से भरपूर भारतीय उपमहाद्वीप में पैर पसारने का अच्छा मौका मिल सकता है।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?