• शहर चुनें

गिरनारसॉफ्ट ने लॉंच किया बसेसदेखो, भारत का पहला पॅसेंजर कमर्शियल व्हीकल पोर्टल

Published On Sep 01, 2016By लिसा प्रधान

एक साल के सफल अभियान के बाद, भारत का सबसे तेज़ी से बढ़ता ट्रकिंग प्लेटफॉर्म, ट्रक्सदेखो.कॉम ने हाल ही में पॅसेंजर कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट के अंतर्गत एक नये और अपने आप में अनूठे पोर्टल बसेसदेखो.कॉम से अवगत कराया है। दोनों, ट्रक्सदेखो.कॉम और बसेसदेखो.कॉम पेरेंट कंपनी गिरनारसॉफ्ट का हिस्सा हैं, जो की अन्य मशहूर ऑटो पॉर्टल्स जैसे कारदेखो.कॉम, गाड़ी.कॉम व ज़िगव्हील्स.कॉम की भी ओनर है। बसेसदेखो.कॉम का उद्देश्य ना सिर्फ़ पॅसेंजर कमर्शियल व्हीक्ल्स सेगमेंट में डिजिटाइज़ेशन की कमी को पूरा करना है, बल्कि इस पोर्टल के मध्यम से घरेलू बाज़ार में मॅन्यूफॅक्चरर्स और बस ओनर्स के बीच के अंतर को कम करते हुए एक छत के नीचे लाना है।

बसेसदेखो.कॉम के साथ यूज़र्स सर्च कर सकते हैं लीडिंग ब्रांड्स की बसेस, वेंस और आटो रिक्शा, साथ ही उनके स्पेसिफिकेशन्स चेक कर सकते है, वीडियोज़ और पिक्चर्स देख सकते हैं, ब्रोशर डाउनलोड कर सकते हैं व साथ ही व्हीकल मॉडल्स की प्राइसस भी देख सकते हैं। इस के अलावा, यूज़र्स दो से तीन व्हीक्ल्स के स्पेसिफिकेशन्स को भी कंपेर कर सकते हैं और डीलर्स का लोकेशन वाइज़ पता लगा सकते हैं वहीं सर्विस सेंटर्स, स्पेयर पार्ट्स और बॉडी मेकर्स का भी पता लगा सकते हैं। कुल मिलाकर संक्षेप में, बसेसदेखो.कॉम रिसर्चिंग, एनॅलाइज़िंग और बसेस को कंपेर करने के लिए वन-स्टॉप सल्यूशन ऑफर करता है।

नये प्लेटफॉर्म पर कॉमेंट करते हुए श्री रॉबिनदर गाउबा, बिज़नेस हेड, ट्रक्सदेखो.कॉम और बसेसदेखो.कॉम, ने कहा की, "हालाँकि, डिजिटाइज़ेशन धीरे धीरे कमर्शियल व्हीकल स्पेस में दस्तक दे रहा है, लेकिन फिर भी जब बात आती है डिमांड के तुलना में ऑटो साइट्स की संख्या की तो यह एक बड़ा गेप दिखाई देता है। इस लॉंच के साथ, हम एक संपूर्ण ऑनलाइन इकोसिस्टम बनाना चाहते हैं, जहाँ फ्लीट ओनर्स रिसर्च कर सकते हैं, साथ ही ज़रूरत के अनुसार बेहतर व्हीकल को कंपेर और डिसकवर भी कर सकते हैं।"

कुल 189 मॉडल्स के साथ जिस में 156 बसेस, 18 वेंस और 15 ऑटो रिक्शा हैं, बसेसदेखो.कॉम ख़रीददारों और फ्लीट ओनर्स के लिए एक पर्फेक्ट प्लेटफॉर्म मुहैय्या कराता है जहाँ वह सुविधापूर्वक व आसानी के साथ अपने पसंद के प्रॉडक्ट्स की जानकारी हासिल कर सकते हैं। पोर्टल पर देश भर के 2000 से ज़्यादा डीलर्स, 2500 सर्विस सेंटर्स, 2500 स्पेयर पार्ट्स सेंटर्स और 312 बॉडी मेकर्स के वेरिफाइड पते मौजूद हैं।

फिलहाल, बस सेल्स के मार्केट में 10.8 प्रतिशत का उछाल दर्शाया गया था। "यह सबसे सही समय है इस प्रॉजेक्ट को लॉंच करने का, इस बात को ध्यान में रखते हुए की भारत सरकार ने पॅसेंजर ट्रांसपोर्ट सेक्टर में और ज़्यादा प्राइवेट प्लेयर्स को लाने के लिए प्रस्ताव रखा है," श्री गाउबा ने आगे कहा।

गिरनारसॉफ्ट की कमर्शियल व्हीकल क्षेत्र में प्रवेश की पहली समर्पित वेबसाइट, ट्रक्सदेखो.कॉम, हाल की सबसे तेज़ी से बढ़ती ऑनलाइन ट्रकिंग पोर्टल है जिस के औसतन प्रति माह 10-12 लाख पेज व्यूज़ हैं जो की 1.5 लाख से 2 लाख यूनीक विज़िटर्स की देन हैं। ट्रक्सदेखो.कॉम ट्रक्स को लेकर विस्तृत जानकारी प्रदान करता है, जिस में उनके स्पेक्स, फीचर्स, प्राइसस, कंपॅरिज़न्स, रिव्यूज़ और इंडस्ट्री की अंदर की खबरें मुहैय्या कराता है। इस ने कई सारे बड़ी दिग्गज डीलरशिप्स से भी टाइ अप्स किया हैं जैसे कार्गो मोटर्स, फ़ोर्टपॉइंट, कासलीवाल ट्रकिंग व जीआरडी ट्रक्स।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?