• शहर चुनें

क़तर स्थित डीलर्स इस साल मार्केट कंडीशन्स की राह को हमवार नहीं मानते

Published On Mar 10, 2016By प्रशांत तलरेजा

यह बात जगजाहिर है की साल 2015 कई देशों के कमर्शियल व्हीकल मार्केट्स के लिए बड़ा रीवाइवल साबित हुआ। मिड्ल ईस्ट और अन्य क्षेत्रों को भारतीय कमर्शियल व्हीकल मार्केट में आए अचानक उछाल का भरपूर फ़ायदा मिला। लेकिन, गौरतलब है की यहाँ तेल के गिरते दाम और ग्लोबल मार्केट की उथल पुथल साल 2016 पर अपना शिकंजा कस सकती है, कारणवश क़तर के कमर्शियल व्हीकल डीलर्स ने अपने अनुमानों को अपने पास सुरक्षित रखा है।

क़तर इंटरनॅशनल ऑटोमोबाइल्स, जो की मेन ट्रक एंड बस की डीलरशिप है, के हेड श्री ईयाद जरदात का मानना है की, "साल 2016 एक अलग साल होगा मार्केट के लिए। आने वाले दिनों में, हमें दुनिया की आर्थिक स्थिति का पूरी तरह से अंदाज़ा हो जाएगा, लेकिन फिर भी यह साल निश्चित रूप से 2015 जैसा तो बिल्कुल नहीं रहेगा।" कंपनी ने गत साल बहुत अच्छा बिज़नेस किया था, और साथ ही उसे कई सारे बड़े ऑर्डर्स भी प्राप्त हुए थे, जिस के मध्यम से वह अपना कस्टमर बेस मज़बूत करने में कामयाब रही। "साल 2015 एक बेहद सफल वर्ष था हमारे लिए, जहाँ हम ने काफ़ी हद तक अपना मार्केट शेयर का दायरा पिछले साल के सेल्स आँकड़ों की तुलना में बढ़ाया है, उन्होंने टिप्पणी करते हुए कहा।"

देश में कई सारे डीलर्स अभी से ही ग्लोबल इकॉनोमी का प्रेशर महसूस करने लगे हैं। "यह आसान नहीं होगा। अन्य जीसीसी देशों की तरह ही हमने भी तेल की कीमतों में कमी की है, जिस के कारण खर्च करना तोड़ा मुश्किल हो गया है," यह कहना है श्री अयमन अहमद का, जो की मॅनेजिंग डाइरेक्टर हैं, जायदाह हेवी एक्विपमेंट फर्म में जो इसुज़ु कमर्शियल व्हीक्ल्स और यू डी ट्रक्स बेचती है।

अजायन ट्रेडिंग ग्रूप, जो की इवेको का क़तर में प्रतिनिधित्व करती है, के जनरल मॅनेजर श्री अरुण डी'सूज़ा भी अपनी सहमती जताते हुए कहते हैं की तेल की कम कीमतें ट्रक मार्केट पर बुरा असर डालेंगी। "यहाँ की सरकार अभी भी इनफ्रास्ट्रक्चर और वर्ल्ड कप से संबंधित प्रॉजेक्ट्स पर काफ़ी सारा पैसा खर्च करने पर प्रतिबध है, क्योंकि इस को आगे बढ़ाना बेहद मुश्किल होगा। लेकिन हां, बिल्कुल, किसी भी अन्य जीसीसी देश की तरह यह अपने खर्चों पर लगाम कसना चाहेंगे, और इस के कारण डिमांड में पिछले साल के मुक़ाबले कमी आएगी," उन्होंने जानकारी दी।

लेकिन फिर भी, उन्हें उम्मीद की एक किरण नज़र दिखाई देती है हालिया मार्केट कंडीशन्स को देखते हुए. "अन्य सभी जीसीसी देशों के विपरीत, क़तर फिलहाल सबसे अच्छी पोज़िशन में है, क्योंकि उसके पास साल 2022 के लिए इनफ्रास्ट्रक्चर प्रॉजेक्ट्स हैं, और यह मार्केट को आगे की ओर चलाने में मदद करते रहेंगे," श्री डी'सूज़ा ने जानकारी दी.

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?