• शहर चुनें

अशोक लीलेंड ने मार्च 2016 में 31% की सेल्स ग्रोथ दर्शाई

Published On Apr 04, 2016By प्रशांत तलरेजा

अशोक लीलेंड ने साल दर साल के आधार पर मार्च 2016 के लिए 31 प्रतिशत की सेल्स वृद्धि दर्ज की है। कंपनी ने मार्च के महीने में 16,702 कमर्शियल व्हीक्ल्स रोल आउट किये, पिछले साल के 12,754 के मुक़ाबले इसी समय के दौरान।

मीडियम और हेवी कमर्शियल व्हीकल (एम एंड एचसीवी) के सेगमेंट में ब्रेंड ने 13,240 यूनिट्स की सेल्स के साथ शानदार 32 प्रतिशत की ग्रोथ दर्शाई है। इंडस्ट्री स्माल कमर्शियल व्हीकल (एससीवी) सेगमेंट की मंदी को लेकर काफ़ी समय से झूझ रही है। लेकिन फिर भी, ऐसा मालूम पड़ता है की यह खराब स्थिति का दौर गुज़रने वाला है, क्योंकि इस सेगमेंट में आने वाले दिनों में अच्छी सेल्स का अनुमान लगाया जा रहा है। कंपनी के लाइट कमर्शियल व्हीकल (एलसीवी) सेगमेंट ने बढ़त दिखाते हुए पिछले महीने 27 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज की 3462 यूनिट्स की सेल्स के साथ।

हाल ही में, कंपनी के शेयर्स अब तक की सबसे उँची छलाँग के गवाह बने थे। और जब की अब नई सेल्स रिपोर्ट का खुलासा किया गया है तो उस में भी स्टॉक नई बुलंदियों को छूता दिखाई देता है। इंडस्ट्री के एनालिस्ट्स की राय में कंपनी की इस बेहतरीन और लगातार सफलता के पीछे कई कारण समझे जा सकते हैं।

जिन में सबसे पहले है कंपनी का पूरे दक्षिण भारत में डीलरशिप नेटवर्क का तेज़ी से विस्तार। फर्म का देश व्यापी मार्केट शेयर में अच्छी वृद्धि हुई है, जिसने 20 प्रतिशत के मार्क को भी क्रॉस कर दिया है। फिलहाल, देश भर के मार्केट पर अशोक लीलेंड का 33 प्रतिशत का मज़बूत क़ब्ज़ा है। इस में ब्रेंड का सबसे मज़बूत बेस है 7.5 टन से 12 टन केपॅसिटी वाले इंटरमीडियेट कमर्शियल व्हीक्ल्स श्रेणी।

कॉर्पोरेशन की लगातार सफलता का एक और बड़ा कारण, जो की काफ़ी एनालिस्ट्स मानते हैं, वो है उसकी उत्तरांचल प्लांट की मज़बूत प्रोडक्षन केपॅसिटी। यहाँ स्थित कंपनी का यह मॅन्यूफॅक्चरिंग बेस फर्म को करीब 40 प्रतिशत का टोटल प्रोडक्षन मुहैया करता है, और साथ ही टेक्स में छूट प्रोडुक्टिविटी के तथ्य को और बढ़ावा देते हैं।

और अंत में, एक ऐसा महत्वपूर्ण तत्व जिसने कंपनी का परफॉर्मेंस सुनिश्चित किया है, वह है हाल ही में की गई डिफेन्स मिनिस्ट्री की डील। कंपनी को इस के मध्यम से 800 करोड़ रुपये का विशाल ऑर्डर मिला है डिफेन्स व्हीकल मुहैया करने के लिए।

इस के अतिरिक्त, जैसे जैसे मार्केट का माहॉल खुलता जा रहा है, एक्सपर्ट्स का यकीन है की कंपनी के और ज़्यादा मज़बूत सेल्स ग्रोथ होने वाली है. इस की फ़िनेंशियल इयर 2017 के लिए अनुमानित तौर कमाई में 10 प्रतिशत के इज़ाफ़े की उम्मीद है.

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?