• शहर चुनें

अशोक लीलेंड को मिली 71% ग्रोथ प्रॉफिट आफ्टर टेक्स के अंतर्गत

Published On Nov 09, 2016By Mukul Yudhveer Singh

देश के कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट की अग्रीण फर्म अशोक लीलेंड ने अपने प्रॉफिट आफ्टर टेक्स के आँकड़ों को सार्वजानिक करते हुए 71 प्रतिशत की ग्रोथ रिपोर्ट की है। यह आँकड़े वर्तमान साल 2016 की दूसरी तिमाही / क्वॉर्टर 2 (क्यू2) के हैं जो की सितंबर 30 को पूरी हुई है।

श्री गोपाल महादेवन, जो की अशोक लीलेंड के चीफ फाइनेंशियल ऑफीसर हैं, ने जानकारी देते हुए बताया की "जैसे जैसे हम ग्रोथ की ओर अपने कदम बढ़ा रहे हैं, हमें इस के साथ ही प्रॉफिटबिलिटी को भी ध्यान में रखना होगा। हमारी टीम लगातार ऑपरेटिंग कॉस्ट्स और मार्जिन्स पर नज़र बनाए हुए है। फाइनेंस कॉस्ट्स करीब 50 प्रतिशत तक कम हुईं हैं और साथ ही वर्किंग कॅपिटल में कंट्रोल में है. डेट ईक्विटी 0.3 प्रतिशत की चल रही है।"

इस साल क्वॉर्टर 2 में पूर्णरूप से मीडियम और हेवी कमर्शियल व्हीक्ल्स सेगमेंट की सेल्स में 14 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली है। इस केटेगरी के अंतर्गत आने वाले मॅन्यूफॅक्चरर्स कुल 66,592 यूनिट्स ही बेच पाए हैं, जो की पिछले साल 77,249 यूनिट्स थी इसी समय के दौरान।

अशोक लीलेंड ने वित्तीय वर्ष 2017 के क्वॉर्टर 2 में कुल 7 प्रतिशत की गिरावट रिकॉर्ड के है अपने रेवेन्यूस में, लेकिन साथ ही 34 प्रतिशत की ग्रोथ का भी भागीदार रहा है जहाँ तक एक्सपोर्ट्स की बात है इस क्वॉर्टर में।

अपने नये प्रॉडक्ट्स को लेकर आत्मविश्वास दर्शाते हुए श्री विनोद दसारी, जो की मेनेजिंग डाइरेक्टर हैं अशोक लीलेंड लिमिटेड के, ने कहा की, "इस आधे वित्तिय वर्ष के अंतर्गत हमारे लिए रेखांकित करने वाली बात ऑपरेटिंग मार्जिन्स का सॅस्टेनेन्स रहा है, क्योंकि हम ने ज़्यादा डिसकाउंटिंग से दूरी बना रखी थी। यह तब कर पाएँ हैं हम जब इंडस्ट्री के लिए क्वॉर्टर 2 काफ़ी मुश्किल भरा साबित हुआ है, बेस एफेक्ट के चलते। हमारी कॉस्ट कंट्रोलिंग की लगातार कोशिशों ने यह सिला हमें दिया है और हमें नीचे से ऊपर लाने में मदद की है। हमें पूरी तरह से विश्वास है की आन वाले महीनों में अच्छे मान्सून और इकॉनॉमिक रिवाइवल के चलते हम कमर्शियल व्हीकल इंडस्ट्री में सकारात्मक ट्रेंड के गवाह बनेंगे। हम उम्मीद करते हैं की हमारे हाल ही में इंटर्मीडियेट कमर्शियल व्हीकल केटेगरी में उतारे गये गुरु (ट्रक) और सनशाइन (बस) हमारे लिए सेल्स में बढ़ोतरी का कारण बनेंगे।"

ऐसा लगता है की हाल ही में हुए निसान मोटर्स और अशोक लीलेंड लिमिटेड के अलगाव से देसी कमर्शियल व्हीकल निर्माता को काफ़ी फ़ायदा हो रहा है।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?