• शहर चुनें

निसान से अलगाव के बाद, अशोक लीलेंड का 'गुरु' तैयार है भारतीय मार्केट में उतरने के लिए

Published On Oct 06, 2016By Mukul Yudhveer Singh

अशोक लीलेंड द्वारा निर्मित पहले गुरु ट्रक की चाबियाँ पंजाब स्थित गोल्डन टेंपल की शिरोमणि गुरद्वारा प्रबंधक कमिटी (एसजीपीसी) को सौंपी गयीं। गुरु अशोक लीलेंड की ओर से भारत के इंटर्मीडियेट कमर्शियल व्हीक्ल्स (आइ सी वी) सेगमेंट में उसकी नवीनतम पेशकश है। इस ट्रक का सीधा मुक़ाबला अपने सेगमेंट व देश के मशहूर टाटा मोटर्स के 407 मॉडल से होगा। यह कंपनी का पहला आइसीवी ट्रक लॉंच है उसके अपने भूतपूर्व पार्ट्नर निसान से अलग होने के बाद।

अल्यूमिनियम व्हील्स, जो की सेगमेंट में पहले हैं, और साथ में अल्यूमिनियम लोड बॉडी, अशोक लीलेंड के लिए बेहतरीन साबित हो सकता है ट्रक की ओवर ऑल लोड केपॅसिटी को बढ़ाने के लिए।

श्री विनोद दसारी, जो की मॅनेजिंग डाइरेक्टर हैं अशोक लीलेंड के, गुरु के लॉंच से पहले कहा था की, "हमारे पास आइसीवी सेगमेंट में अमूमन काफ़ी कम मार्केट शेयर है। और इस को मज़बूत करने के लिए, हम सनशाइन बस और गुरु लॉंच कर रहे हैं ताकि इस महत्त्वपूर्ण सेगमेंट में अपनी कमी को पूरा कर सकें। इस के द्वारा सेगमेंट में हमारे मार्केट शेयर को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी।"

कंपनी का दावा है की 'गुरु' नई पीढ़ी का लाइट ट्रक है, जिस को पावर प्रदान करता है अशोक लीलेंड का सब्से नवीन 'एच सीरीज़' इंजन, और साथ ही जिस में लगा है यूपीसीआरएस सिस्टम।

श्री अवतार सिंह मक्कड़, जो की एसजीपीसी के प्रेसीडेंट हैं ने कहा की, "हम बेहद खुश हैं अशोक लीलेंड से पहला 'गुरु' ट्रक प्राप्त कर के। अशोक लीलेंड हमेशा से ही दूसरों की मदद को आगे आया है और हमें भरोसा है की इस प्रॉडक्ट के साथ एसजीपीसी में हम अपनी सर्वीसज़ को भक्तों तक और भी बेहतर ढंग से पहुँचा पाएँगे, जो की गुरद्वारा में आते हैं।

एसजीपीसी के पास अच्छी संख्या में ट्रक्स की फ्लीट मौजूद है। इन व्हीक्ल्स का इस्तेमाल गुरुद्वारा कमिटी द्वारा भक्तों के कई कामों में मदद के लिए जाता है और साथ ही गुरुद्वारा के अहाते को भी मेनटेन करने के कार्य के लिए भी इन्हें काम में लिया जाता है।

श्री अनुज कथूरिया, जो की प्रेसीडेंट हैं ग्लोबल ट्रक्स - अशोक लीलेंड में, ने जानकारी देते हुए कहा की, "हमारा सौभाग्य है की हम ने पहला गुरु ट्रक शिरोमणि गुरद्वारा प्रबंधक कमिटी को प्रेज़ेंट किया, जिस संस्था की ज़िम्मेदारी देश में गुरुद्वारा को मेनटेन करने की है। अशोक लीलेंड हमेशा से ही ऐसे प्रॉडक्ट्स बनता आया है जो की इंटेलिजेंट डिज़ाइन के साथ साथ स्मार्ट टेक्नॉलॉजी का सही संगम अपने कस्टमर्स को देती है।" कंपनी द्वारा मॅन्यूफॅक्चर्ड नये आइसीवी पर बात करते हुए उन्होंने आगे बताया की, "यहाँ गुरु ट्रक हमारी इस सोच को बखूबी दर्शाता है और हम आश्वस्त हैं की इस बढ़े हुए धीरज के साथ व अन्य सेगमेंट फर्स्ट फीचर्स के साथ, यह एसजीपीसी के लिए उनके कई लॉजीस्टिकस से जुड़े कामों में मददगार साबित होगा।"

अशोक लीलेंड और जापानी ऑटोमोबाइल मॅन्युफॅक्चरर निसान के बीच आठ साल पुराना सहयोग पिछले महीने समाप्त हो गया, जहाँ निसान अपने हिस्से का पूरा स्टेक, तीनों जॉइंट वेंचर्स के अंतर्गत, अशोक लेलेंड को बेचने को तैयार हो गया। यहाँ एक रोचक बात यह है की अशोक लीलेंड के दोस्त और पार्ट्नर प्रॉडक्ट्स निसान के ही डिज़ाइन, इंजिनियरिंग और टेक्नॉलॉजी पर आधारित हैं।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?