• शहर चुनें

महिंद्रा एमपावर प्रोग्राम के 10वें बेच का सफलतापूर्वक समापन हुआ

Published On Sep 09, 2016By लिसा प्रधान

महिंद्रा ट्रक और बस डिवीज़न के एमपावर प्रोग्राम का दसवाँ बेच हाल ही समाप्त हुआ। अगस्त 13 से शुरू हुआ यह प्रोग्राम आइआइएम अहमदाबाद में कुल आठ दिन तक चला जिस में देश भर से आए नयी पीढ़ी के 31 युवा ट्रांसपोर्ट एंट्रेपरेनेउर्स ने हिस्सा लिया। कोर्स में कई सारे विषयों को कवर किया गया, और इस का मकसद था प्रतिभागियों, जिन का संबंध भारत के अग्रीण ट्रॅन्स्पोर्टेशन कंपनीज़ के परिवारों से है, को बिज़नेस की एडवांस व मॉडर्न गुरों से अवगत कराना।


प्रोग्राम के आखरी दिन कई सारे स्पीकर्स ने ट्रकिंग इंडस्ट्री के प्रति अपने अपने दृष्टिकोण रखे। पहले सेशन में कॅंडिडेट्स ने इंडस्ट्री द्वारा सहन किए जा रहे प्रॅक्टिकल प्रॉब्लम्स को लेकर प्रेज़ेंटेशन दी और इन समस्याओं के समाधान को भी पेश किया ताकि इन का सफलतापूर्वक निवारण किया जा सके। प्रत्याशियों को श्री अभय दामले, जो की जॉइंट सेक्रेटरी हैं मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवेज़ में, से समस्याओं पर चर्चा और बहस करने का मौका मिला।

श्री दामले ने एक और विस्तृत सेशन लिया , जहाँ उन्होंने प्रत्याशियों द्वारा उठाए गये सवालों के जवाब देने के साथ साथ उनको मोटर व्हीक्ल्स (अमेंडमेंट) बिल, 2016 के बारे में भी जानकारी दी।


ड्राइवर्स की कम के अलावा, श्री दमले ने अन्य समस्याओं जैसे की भ्रष्टाचार और इस को लेकर क़ानून से संबंधित मिनिस्ट्री की प्रॉब्लम्स सॉल्व करने की कोशिशों व इंटर स्टेट ट्रांसपोर्टेशॅन में आने वाली रुकावटों के बारे में जान करी दी।

प्रोग्राम पर रोशनी डालते हुए, श्री वेंकट श्रीनिवास, जो की वाइस प्रेसीडेंट और हेड इंजनीरिंग एंड प्रॉडक्ट डेवेलपमेंट, महिंद्रा ट्रक एंड बस डिवीज़न (एमटीबीडी), ने कहा की, "महिंद्रा को कमर्शियल व्हीकल ईकोसिस्टम में अपना असर छोड़ना चाहती है। इस तरह के प्रोग्रॅम्स में बहुत ही कम कंपनीज़ शामिल होती हैं, जिस में वह कस्टमर्स से सीधे संपर्क में आते हैं उन्हें सशक्त करने के लिए। इस प्रकार के इवेंट्स और इनिशियेटिव्स ईकोसिस्टम को डेवेलप करने व बिज़नेस से जुड़े रहने में मदद करने के साथ साथ सकारात्मक बदलाव भी लाता है।"


ट्रक्स देखो द्वारा पूछे गये एक सवाल की महिंद्रा इस प्रोग्राम के साथ क्या प्राप्त करना चाहता है, का जवाब देते हुए एमटीबीडी के सीनियर जनरल मॅनेजर - मार्केटिंग, श्री राजीव मलिक ने कहा की, "महिंद्रा अपनी राइज़ फिलॉसोफी के साथ पूरी तरह खरी उतार रही है। और इस प्रोग्राम के मध्यम से हम अपने कस्टमर्स और समाज को कुछ वापस देना चाहते हैं, जो की हम पर आपर भरोसा करते हैं। साथ ही, जैसे की ट्रक सेगमेंट में हम एक नये प्लेयर हैं, इस प्रोग्राम के तहत हम अपने भविष्य के कस्टमर्स से सीधे संपर्क साध सकते हैं और उन्हें बेहतर ढंग से समझ सकते हैं। आईआईएम अहमदाबाद की होनहार टीचिंग फॅकल्टी से हमें कितना कुछ सीखने को मिलेगा और इस प्रकार की शिक्षा हमें अपना बिज़नेस सही दिशा में ले जाने में मदद करेगी।"


एमपावर प्रोग्राम का लक्ष्य नई युवा पीढ़ी को अपना फॅमिली बिज़नेस अपने विज़न से आगे ले जाने में मदद करना है, साथ ही यह प्रोग्राम भारत में ट्रांसपोर्टेशन सेक्टर को नई मज़बूती प्रदान करने के प्रति महिंद्रा के दृढ़ निश्चय को भी दर्शाता है। प्रतिभागी इस प्रोग्राम से बड़ी हद तक लाभान्वित हुए और साथ ही महिंद्रा के प्रति भी आभार व्यक्त किया की उसने उनको एक आइस प्लेटफॉर्म मुहैय्या कराया जहाँ उनको उनकी इंडस्ट्री के बारे जानने वा बिज़नेस बढ़ाने के गुरों को सीखने में मदद मिली।

इस बेच में एमपावर प्रोग्राम ने 278 युवा ट्रांसपोर्टेर्स को जोड़ा, जो की सामूहिक रूप से कुल मिलाकर 57300 ट्रक्स के मलिक हैं और सेगमेंट के आधे भाग में ट्रक्स को इस्तेमाल करते हैं। इस से 62900 लोगों को रोज़गार मुहैया होता है और यह कुल 23250 करोड़ रुपये के कुल टर्न ओवर के ज़िम्मेदार हैं।

लेटेस्ट मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत

पॉपुलर मॉडल्स

  • ट्रक्स्
  • पिकअप ट्रक्स्
  • मिनी-ट्रक्स्
  • टिप्पर्स
  • ट्रेलर्स
  • 3 व्हीलर
  • ट्रांजिट मिक्सचर
  • ऑटो रिक्शा
*एक्स-शोरूम कीमत
×
आपका शहर कौन सा है?